Pahaad Connection
Breaking Newsअपराधउत्तराखंड

फर्जी खाताधारक बनकर धोखाधडी करने वाले अभियुक्त को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Advertisement

देहरादून,14 मई। अपराधियों पर दून पुलिस की कार्यवाही लगातार जारी हैं। फर्जी खाताधारक बनकर बैंक के ड्रॉप बॉक्स से चैक निकालकर धोखाधडी करने वाले अभियुक्त को दून पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया हैं। अभियुक्त के कब्जे से धोखाधडी कर निकाली गई 25 हजार रुपये की धनराशि बरामद हुई हैं। अभियुक्त ने अपने 02 अन्य साथियों के साथ मिलकर फर्जी खाताधारक बनकर बैंक से पीडित के चैक के माध्यम से 06 लाख 50 हजार रुपये की धनराशि निकाली थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार विगत 30 अप्रैल को सुनील दत्त अंथवाल पुत्र प्रेमदत्त अंथवाल निवासी मोनाल एन्क्लेव लेन नं.-01 बंजारावाला देहरादून द्वारा कोतवाली पटेलनगर में एक लिखित प्रार्थना पत्र दिया गया कि उन्होने एक एकाउंट पे चैक 6,50,000 रुपये दिनांक 30 अप्रैल को अपने एसबीआई बैंक में जमा करने हेतु कारगी चौक, एसबीआई बैंक में ड्रॉप बॉक्स मे डाला था। 01 मई को सुनील दत्त अंथवाल द्वारा अपने खाते का बैलेंस चैक करने पर उक्त चैक की धनराशि जमा होनी नही पायी तथा बैंक में जानकारी करने पर सुनील दत्त अंथवाल को बैंक द्वारा बताया कि उक्त रकम किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा इस चैक से नकद निकाल ली गई है। लिखित तहरीर के आधार पर थाना पटेलनगर मे अज्ञात व्यक्ति के विरुद्व मुकदमा अपराध सख्या -317/2024 धारा 420 भादवि का अभियोग पंजीकृत किया गया। प्रकरण की गंभीरता के दृष्टिगत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून अजय सिंह द्वारा प्रभारी निरीक्षक कोतवाली पटेलनगर को घटना के अनावरण हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। जिसके क्रम मे थाना स्तर पर पुलिस टीम का गठन किया गया। टीम द्वारा पीड़ित व्यक्ति से पूछताछ कर उक्त बैंक के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरे तथा आने जाने वाले मार्गों में लगे लगभग 48 सीसीटीवी कैमरों का अवलोकन करते हुए, मुखबिर तंत्र सक्रिय किया गया तथा प्रकाश मे आये संदिग्ध व्यक्तयों से पूछताछ की गयी। इस दौरान पुलिस टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर थाना पटेलनगर क्षेत्रान्तर्गत चैकिंग के दौरान अभियुक्त विपिन पुत्र बालकृष्ण निवासी ग्राम भूडा पोस्ट पौटाकला थाना बरखेडा, जिला पीलीभीत, उत्तर प्रदेश उम्र 29 वर्ष को आईएसबीटी चौक से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त की तलाशी लेने पर उसके पास से 25,000/- रुपये नगदी बरामद हुई। अभियुक्त द्वारा पूछताछ में बताया कि उसने अपने 02 अन्य साथियो के साथ मिलकर एसबीआई बैंक कारगी चौक के ड्रॉप बॉक्स से चैक निकालकर फर्जी खाताधारक बनकर धोखाधडी से बैंक से नगदी निकाली गई थी। अभियुक्त से पूछताछ के आधार पर घटना में प्रकाश में आये 02 अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे है।

Advertisement

 

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

प्रधानमंत्री ने दी भारतीय टीम को शुभकामनाएं

pahaadconnection

मुख्यमंत्री ने श्रम सहिंताओं के व्यवहारिक क्रियान्वयन पर ध्यान देने को कहा

pahaadconnection

राज्य आंदोलनकारी आरक्षण पर सरकार द्वारा की जा रही देरी दुर्भाग्यपूर्ण : भुवन कापड़ी

pahaadconnection

Leave a Comment