Pahaad Connection
उत्तराखंड

जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने जिले के सभी पुलों का सेफ्टी ऑडिट कर रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए.

Advertisement

बागेश्वर ।

जनपद में सभी पुल का सेफ्टी ऑडिट कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें, यह निर्देश जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने सड़क महकमों के अधिकारियों को दिए। उन्होंने अधिशसी अभियंता लोनिवि को नोडल अधिकारी बनाते हुए सभी सड़क महकमों से अपने-अपने क्षेत्रों के पुलों का तुरंत निरीक्षण कर पुलों की सेफ्टी ऑडिट रिपोर्ट संकल करके प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

Advertisement

जिलाधिकारी ने बैठक लेते हुए जनपद में स्थित सेतुओं की भार क्षमता के आधार पर आवागमन की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देष अधिशासी अभियंताओं को दिए। उन्होंने कहा सेतुओं की उचित अनुरक्षण न होने, भार क्षमता से अधिक यातायात संचालन होने, सेतुओं के समीप उपयुक्त साइनेज न होने तथा सेतुओं की अत्यधिक समयावधि होने व दुर्घटनाओं की संभावनाएं बनी रहती हैं। इसलिए सड़क महकमा लोनिवि, पीएमजीएसवाई, एनएच, बीआरओ, बेवकास, आरडब्लूडी अपने अपने क्षेत्रांगत पुलों का सक्षम अभियंताओं से सेफ्टी ऑडिट कराना सुनिश्चित करें। साथ ही पुलों के दोनों ओर साइनेज लगाने के निर्देश दिए। पुलों में कमियों के कारण किसी प्रकार की दुर्घटना की स्थिति में संबंधित अधिशासी अभियंता पूर्ण रूप से उत्तरदायी होंगे।

Advertisement

जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि यदि पुलों की अनुरक्षण की आवश्यकता है तो औचित्यपूर्ण प्रस्ताव प्रस्तुत करें ताकि प्रस्ताव शासन को भेजे जा सकें।
अधिशासी अभियंता लोनिवि बागेष्वर ने बताया कि लोनिवि बागेष्वर ने क्षेत्रांतर्गत 101 पुल हैं जिनमें से 56 पुलों का सेफ्टी ऑडिट कर लिया गया है बताया कि पांच झूला पुल हैं। लोनिवि कपकोट खंड में 136 पुल हैं जिसमें से 76 पुलों का सेफ्टी ऑडिट कर लिया गया है इसी प्रकार अधिशासी अभियंता पीमजीएसवाई बागेष्वर ने बताया कि उनके क्षेत्रांतर्गत 11 पुल हैं पांच निर्माणाधीन पुल हैं पीएमजीएसवाई कपकोट में 14 पुल हैं जिसमें से नौ वैली ब्रिज हैं जिनकी मरम्मत कर दी गई है। जबकि ब्रिडकुल के पास तीन पुल व आरडब्लूडी के पास दो पुल हैं। जिलाधिकारी ने राष्ट्रीय राजमार्ग व बीआरओ के बैठक में उपस्थित न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए शीघ्र अपने पुलों की सूची व सेफटी आडिट रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

Advertisement

जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता लोनिवि को बागेष्वर सरयू नदी पर 1913 में बने झूला पुल का शीघ्र सेफ्टी ऑडिट प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए।
बैठक में अधिशासी अभियंता लोनिवि राजकुमार, आरडब्लू डी रमेश चंद्रा, पीएमजीएसवाई विजय कृष्णा, पीएस बिष्ट, वेबक्रास विशन लाल, ब्रिडकुल मंजीत देशवाल, सिंचाई विभागयोगेश चंद्र कांडपाल आदि उपस्थित थे।

Advertisement
Advertisement

Related posts

कृषि मंत्री ने किया कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण

pahaadconnection

सनातन विरोध नीति वालों के मन में चुनाव के डर से प्रभु राम का खौफ लाजिमी : भट्ट

pahaadconnection

मानवता का फर्ज़ निभाती दून पुलिस फिर बनी मददगार

pahaadconnection

Leave a Comment