Pahaad Connection
Breaking Newsउत्तराखंड

रक्षा मंत्री ने रोम में इटली के रक्षा उद्योग जगत के शीर्ष कारोबारियों से की मुलाकात

Advertisement

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने अपनी इटली यात्रा के दूसरे दिन रोम में इटली की रक्षा कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों और रक्षा उद्योग जगत के अन्य शीर्ष कारोबारियों से भेंट की। इस बैठक के दौरान, रक्षा मंत्री ने इटली के रक्षा मंत्री श्री गुइडो क्रोसेटो के साथ हुई अपनी गर्मजोशी से भरी मुलाकात और कल ही संपन्न हुए रक्षा समझौते को भी याद किया। रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने दोनों देशों के रक्षा उद्योगों को सहयोगी रवैये के साथ मिलकर काम करने की आवश्यकता पर बल दिया।

इस अवसर पर श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने देश में व्यापार करने की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए अत्यधिक सुधार किये हैं। उन्होंने बताया कि भारत के रक्षा उद्योग में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश बढ़ाने के उद्देश्य से मानदंडों को आसान बनाया है। श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इस संबंध में दो रक्षा औद्योगिक गलियारे तैयार किये गए हैं और सरकार, भारत में रक्षा विनिर्माण को प्रोत्साहित करने हेतु लगातार कार्य कर रही है। उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि भारत सहयोगात्मक-विकास तथा सह-उत्पादन के लिए आकर्षक अवसर प्रदान करता है और इसका फायदा उठाकर भारतीय एवं इतालवी रक्षा उद्योगों में निहित पूरक क्षमताओं को लाभप्रद स्थिति में अनुकूलित किया जा सकता है। रक्षा मंत्री ने इटली के रक्षा उद्योग जगत के व्यवसायियों से भारतीय रक्षा निर्माताओं के साथ आपूर्ति श्रृंखला संबंधों को सशक्त बनाने तथा भारतीय रक्षा आपूर्तिकर्ताओं की समिति के साथ घनिष्ठ संबंध विकसित करने का भी आग्रह किया।

Advertisement

इस बैठक में इटली की 24 रक्षा कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, अध्यक्ष व उपाध्यक्ष और अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए। इस अवसर पर लियोनार्डो, फिनकैंटेरी, इलेक्ट्रोनिका, बेरेटा, एआईएडी, पास्क्वाली तथा कई अन्य प्रमुख इतालवी कंपनियों के प्रमुख औद्योगिक कारोबारी भी उपस्थित थे। इटली के रक्षा उद्योग जगत से इतनी बड़ी संख्या में लोगों की उपस्थिति होना एक तरह का रिकॉर्ड ही था।

श्री राजनाथ सिंह ने दोनों देशों के बीच रक्षा संबंधों को पहले से अधिक बेहतर बनाने के लिए इतावली रक्षा संस्थाओं के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों द्वारा दिए गए प्रस्तावों का स्वागत किया और उन्हें भारत सरकार की ओर से सभी तरह के आवश्यक सहयोग एवं सहायता का आश्वासन भी दिया।

Advertisement

एसोसिएशन ऑफ डिफेंस इंडस्ट्रीज के महासचिव और इटली में रक्षा मंत्रालय के प्रतिनिधित्व के अलावा, इटली के अवर रक्षा सचिव श्री माटेओ पेरेगो डी क्रेमनागो ने भी इस बैठक में भाग लिया।

बाद में, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने श्री माटेओ पेरेगो डी क्रेमनागो और इटली में भारत की राजदूत श्रीमती नीना मल्होत्रा के साथ पेरुगिया प्रांत में मोंटोन का दौरा किया। वहां पर रक्षा मंत्री ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इतालवी अभियान की लड़ाई में अपना योगदान देने वाले नायक यशवंत घाडगे और अन्य भारतीय सैनिकों के लिए हाल ही में बनाए गए एक स्मारक पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

Advertisement

भारतीय सेना के 50,000 से ज्यादा सैनिकों ने इतालवी अभियान में भाग लिया था, जिनमें से 5,700 से अधिक ने अपने प्राणों का बलिदान दिया था। पूरे इटली के विभिन्न कब्रिस्तानों में बलिदानियों की स्मृति में कई कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं। मोंटोन के मेयर, स्थानीय समुदाय, स्कूली बच्चों और मोंटोन में भारतीय समुदाय के लोगों ने रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह का स्वागत किया। रक्षा मंत्री ने भारतीय सैनिकों की स्मृतियों को सहेज कर रखने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। रक्षा मंत्री की यसवंत घाडगे स्मारक की यात्रा ने भारत तथा इटली के बीच के अनूठे ऐतिहासिक जुड़ाव को और भी सघन कर दिया है।

 

Advertisement

 

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

सहकारी बैंकों का विशेष महत्व : विधानसभा अध्यक्ष

pahaadconnection

जनपद स्तरीय स्टीयरिंग समिति की बैठक आयोजित

pahaadconnection

नाना पाटेकर लंबे समय के बाद एक बार फिर सिल्वर स्क्रीन पर नजर आएंगे

pahaadconnection

Leave a Comment