Pahaad Connection
Breaking News
Breaking Newsअपराधउत्तराखंड

पुलिस टीम ने दुर्दांत बदमाश को साहस का परिचय देते हुए मुठभेड़ में मार गिराया

Advertisement

देहरादून। नानकमत्ता गुरुद्वारे के कारसेवा प्रमुख बाबा तरसेम सिंह की गोली मारकर हत्या करने वाले अमरजीत सिंह को उत्तराखंड एसटीएफ और हरिद्वार पुलिस ने थाना भगवानपुर क्षेत्र में मुठभेड़ में मार गिराया है। मुठभेड़ में मारे गए बदमाश के बाद मंगलवार को आईजी गढ़वाल करण सिंह नगन्याल भगवानपुर क्षेत्र स्थित घटनास्थल का निरीक्षण किया। साथ ही अधीनस्थों से सोमवार की रात हुई मुठभेड़ के बारे में जानकारी ली। इसके बाद आईजी रुड़की सिविल अस्पताल पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे और बदमाश शव को देखा। आईजी करण सिंह नगन्याल ने बताया कि मुठभेड़ में मर गया बदमाश नानकमत्ता में बाबा तरसेम सिंह की हत्या में मुख्य आरोपी था। सोमवार की रात देहरादून एसटीएफ को सूचना मिली थी कि बाइक सवार दो बदमाश भगवानपुर की ओर से यूपी की सीमा में जा रहे हैं। सूचना पाकर मौके पर पहुंची टीम को दोनों बदमाश वही मिले, जिन्होंने बाबा तरसेम सिंह की गोली मारकर हत्या की थी। इस पर एसटीएफ की टीम ने भगवानपुर पहुंचकर बाइक सवार बदमाशों की घेराबंदी की तो उन्होंने एसटीएफ की टीम पर फायरिंग कर दी। जवाबी फायरिंग में बदमाश अमरजीत उर्फ बिट्टू को गोली लग गई। जबकि दूसरा बदमाश अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया। एसटीएफ की टीम ने घायल बदमाश को रुड़की सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। आईजी ने बताया कि जवाबी फायरिंग में बदमाश के शरीर पर आठ गोली लगी हैं। आईजी ने बताया कि फरार बदमाश की तलाश की जा रही है।

उत्तराखण्ड राज्य के पुलिस महानिदेशक अभिनव कुमार द्वारा उधमसिंह नगर नानकमत्ता गुरुद्वारा बाबा हत्याकांड के  मुख्य आरोपी बदमाश अमरजीत उर्फ बिट्टू के साथ कल देर रात हरिद्वार में उत्तराखंड पुलिस की हुई मुठभेड़ के सम्बन्ध में कोर्ट रोड स्थित सरदार पटेल भवन में मीडिया कर्मियों से वार्ता की। उन्होंने बताया की कल देर शाम एसटीएफ टीम उत्तराखंड द्वारा एसएसपी हरिद्वार को उधम सिंह नगर के नानकमत्ता गुरुद्वारा के बाबा तरसेम सिंह की हत्या में वांछित ईनामी बदमाशों के सहारनपुर से हरिद्वार भगवानपुर कलियर होकर मुरादाबाद उत्तर प्रदेश जाने की गुप्त सूचना दी गई। जिस पर पूरे हरिद्वार जनपद में जगह-जगह एसटीएफ टीमों के साथ संयुक्त रूप से सघन चैकिंग अभियान चलाया जा रहा था। इसी दौरान समय लगभग 12:30 बजे रात्रि मुखबिर की सटीक सूचना पर थाना भगवानपुर क्षेत्रांतर्गत गागलहेडी तिराहे में चैकिंग पॉइंट पर मोटरसाइकिल से आ रहे दो संदिग्ध बदमाशों को ड्यूटी पर मौजूद पुलिस टीम द्वारा रोकने का प्रयास किया गया तो दोनों बदमाश रोकने पर नहीं रुके और पुलिस टीम से बचते हुए तेजी से भगवानपुर से इमलीखेड़ा-कलियर की तरफ भागे जिस पर कलियर संयुक्त पुलिस टीम द्वारा मार्ग में रोकने पर छंगा माजरी तिराहे से छंगा माजरी गांव की ओर मुड़ गए जहां कुछ दूरी पर तत्काल पुलिस टीमों द्वारा चौतरफा इन दोनों बदमाशों को घेर लिया गया। जिस पर इनके द्वारा पुनः हाईवे की तरफ जाने का प्रयास किया लेकिन पुलिस से घिर जाने पर इन बदमाशों द्वारा पुलिस टीम पर फायर किया गया। जिस पर पुलिस की जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश को गोली लगी जबकि दूसरा बदमाश अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से भाग गया जिसकी सरगर्मी से तलाश जारी है। घायल बदमाश को तुरंत सिविल अस्पताल रुड़की भिजवाया गया जहां डॉक्टर द्वारा उसको मृत घोषित कर दिया गया। एसटीएफ टीम द्वारा तस्दीक करने पर मृतक बदमाश का नाम अमरजीत सिंह उर्फ बिट्टू पुत्र सुरेंद्र सिंह पता फतेहगढ़ चूड़ियां रोड नगलीभट्टा अमृतसर पंजाब है जो 100000 रुपये का इनामी था और उधमसिंह नगर के नानकमत्ता गुरुद्वारे के बाबा तरसेम सिंह की हत्या में वांछित था। पुलिस टीम द्वारा दुर्दांत बदमाश को साहस का परिचय देते हुए पुलिस मुठभेड़ में मार गिराने पर आमजन द्वारा पुलिस टीम की सराहना की गई। प्रेस वार्ता में श्री ए पी अंशुमान, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, श्री नीलेश आनन्द भरणे, पुलिस महानिरीक्षक, पी/एम, श्री करण सिंह नगन्याल, पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र, श्री आयुष अग्रवाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ उपस्थित रहे।

Advertisement

 

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

सिलक्यारा सुरंग रेस्क्यू पर पल पल अपडेट ले रहे मुख्यमंत्री

pahaadconnection

ऊर्जा प्रदेश में बेहतर हो रही बिजली सेवाएं

pahaadconnection

नितिन गडकरी ने इसरो को बधाई दी

pahaadconnection

Leave a Comment