Pahaad Connection
Breaking News
राजनीति

राजस्थान में गहलोत गुट और पायलट गुट के मध्य गहमागहमी

Advertisement

मंत्री अशोक चांदना को मंच पर जूते दिखाए गए. उन्हें घेरने के लिए भी लोग दौड़े हालात बिगड़ने पर चांदना और शकुंतला रावत को कड़ी सुरक्षा के बीच वहाँ से निकलना पड़ा. कर्नल बैसला के पुत्र विजय सिंह बैसला लोगों से शांत रहने की अपील करते रहे लेकिन हुड़दंग जारी रहा. इस दौरान जमकर सचिन पायलट के समर्थन में नारेबाज़ी हुई. इस पूरे घटनाक्रम से नाराज़ अशोक चांदना ने ट्वीट कर लिखा कि मुझ पर जूता फ़िंकवाकर सचिन पायलट CM बने तो जल्दी बन जाए क्योंकि आज मेरा लड़ने का मन नहीं है. जिस दिन मैं लड़ने पर आ गया, फिर एक ही बचेगा और ये मैं चाहता नहीं हूं. चांदना ने कार्यक्रम में मौजूद भाजपा नेता राजेंद्र राठौड़ पर भी निशाना साधा.

मामला यहीं नहीं रुका जवाब राजेन्द्र राठौड़ की ओर से भी आया. उन्होंने लिखा दूसरों पर तोहमत लगाने से पहले अपने गिरेबान में झांक लो. ये हालात क्यों बने हैं, दूसरों की पकी फ़सल काटकर अपने खेत पर ले जाओगे तो परिणाम यही होंगे. आगे आगे देखें होता है क्या?

Advertisement
मामले में गहलोत-पायलट खेमे के नेताओं के बीच देर रात से ही ट्विटर वॉर चल रहा है हालांकि पायलट समर्थक किसी भी विधायक ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है लेकिन इसे लेकर पायलट समर्थकों में खासा रोष है.
दिलचस्प बात तो यह है कि राजस्थान में जैसे-जैसे मुख्यमंत्री का चेहरा बदलने की चर्चा चल रही हैं वैसे ही गहलोत और पायलट खेमे के नेताओं के बीच शुरू हुई बयानबाजी अब धमकी और जूता पॉलिटिक्स तक जा पहुंची है. जिस तरह से अब सचिन पायलट कैंप और अशोक गहलोत कैंप के नेताओं के बीच तीखी बयानबाजी हो रही है, उससे साफ है कि आने वाले दिनों में प्रदेश में फिर से सियासी घमासान हो सकता है.
Advertisement

Related posts

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि महिलाओं की भागीदारी के बिना किसी भी देश का विकास संभव नहीं है

pahaadconnection

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में प्रधानमंत्री के संबोधन का मूल पाठ

pahaadconnection

Gujarat Election: विरोधियों को पटखनी देने के लिए बीजेपी ने बनाई ‘कारपेट बॉम्बिंग’ की रणनीति, 89 सीटों पर करेगी ताबड़तोड़ कैंपेन

pahaadconnection

Leave a Comment