Pahaad Connection
Breaking Newsदेश-विदेशराजनीति

मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा कि मर जाना कबूल है पर अब BJP के साथ जाना कबूल नहीं

BJP
Advertisement

गठबंधन को लेकर भाजपा द्वारा दिए गए बयान पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने करारा पलटवार किया है। उन्होंने बड़ा बयान देते हुए कहा कि मर जाना कबूल है पर बीजेपी के साथ जाना अब कबूल नहीं है। सीएम नीतीश ने कहा कि 2017 में भुलावे की वजह से उनके साथ चले गए थे, पर अब ऐसा होने वाला नहीं है। महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देने गांधी घाट पहुंचे नीतीश कुमार ने एक सवाल के जवाब में कहा कि बीजेपी अब अटल-अडवाणी वाली नहीं है।

 

लोग गांधी जी को भी भुलाना चाहते हैं पर हमलोग गांधी जी को भूलाने वालों में से नहीं हैं। बल्कि उनके विचार पर काम करने वाले हैं। 2020 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने उन्हें धोखा दिया था जिसकी वजह से उनकी सीटें कम हो गई थी। इससे पहले जब भी गठबंधन में चुनाव लड़े थे तब जेडीयू हमेशा बीजेपी से ज्यादा सीट जीती थी। हमारी वजह से बीजेपी को मुस्लिम वोट मिला था।

Advertisement

 

मुख्यमंत्री ने भाजपा के उस दावे की भी खिल्ली उड़ायी कि उसे राज्य में अगले साल आम चुनावों में 40 लोकसभा सीटों में से 36 सीटें मिलेगी। उन्होंने दोहराया कि उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव तथा उनके पिता लालू प्रसाद के खिलाफ भ्रष्टाचार के ‘‘निराधार” आरोपों के बाद 2017 में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में उनकी वापसी एक ‘‘भूल” थी।

Advertisement

 

इससे पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की बिहार इकाई के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा कि समूचे राज्य के पार्टी कार्यकर्ताओं को साफ बता दिया गया है कि “अलोकप्रिय” मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से फिर से हाथ मिलाने का कोई सवाल ही नहीं है। जायसवाल ने यह टिप्पणी उत्तर बिहार के दरगंभा में प्रदेश भाजपा की दो दिवसीय राज्य कार्यकारिणी की बैठक के समापन अवसर पर की।

Advertisement
Advertisement

Related posts

सोनिया गांधी से पूछताछ के कुछ दिनों बाद ईडी ने दिल्ली में नेशनल हेराल्ड की संपत्ति पर छापा मारा

pahaadconnection

किसानों को हो रही समस्याओं का समाधान कराये जाने की मांग

pahaadconnection

देहरादून: पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद आम बजट की खुबिया बताने उत्तराखंड आएँगे

pahaadconnection

Leave a Comment