Pahaad Connection
Breaking Newsअपराधउत्तराखंड

बुजुर्ग महिला से ठगी कर आभूषण ले जाने की घटना का दून पुलिस ने 48 घंटे में किया खुलासा

Advertisement

देहरादून, 09 अक्टूबर। बुजुर्ग महिला से ठगी कर आभूषण ले जाने की घटना का दून पुलिस ने 48 घंटे में खुलासा करते हुये घटना को अजांम देने वाले 04 अभियुक्तों को गाजियाबाद तथा दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया हैं। पुलिस का कहना हैं की अभियुक्तों द्वारा महिला से ठगे गये आभूषणों पर गोल्ड लोन लिया था। अभियुक्तों के कब्जे से गोल्ड लोन की धनराशि को बरामद किया गया हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून अजय सिंह का कहना हैं की बुजुर्ग महिलाओं, सीनियर सिटीजन और बच्चों की सुरक्षा हमारी दून पुलिस की प्राथमिकता में है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नवीन सिंह गुसांई पुत्र श्रीमती सरोजनी देवी निवासी शान्तिविहार फेज 3 अजबपुर कला देहरादून ने विगत 07 अक्टूबर को थाना नेहरू कालोनी पुलिस को लिखित तहरीर देते हुये बताया की उनकी माता मोथोरावाला चौक पर देहरादून से चम्बा जाने के लिये बस का इन्तेजार कर रही थी, तभी वहां एक कार सवार व्यक्ति आकर रूका जिसने उनसे ऋषिकेश जाने के लिये पूछा। जिस पर उनकी माता व दो अन्य सवारियां एक महिला व एक पुरूष कार में बैठ गये। रिस्पना पुल पहुंचने पर कार चालक द्वारा आगे चैकिंग की बात कहते हुए पीछे बैठी सवारियो से अपने समस्त आभूषण एक लिफाफे में रखने को कहा, जिस पर उनकी माताजी व उनके साथ बैठी एक महिला ने अपने आभूषण उतारकर उस लिफाफे में रख दिये। बाद में उनकी माताजी को कोई अन्य लिफाफा पकडाकर मोहकमपुर के पास उतार दिया। जब उनकी माताजी द्वारा उक्त लिफाफे को खोला गया तो उसमें अखबार के टुकडे भरे थे। नवीन सिंह गुसांई द्वारा दी गयी तहरीर के आधार पर तत्काल थाना नेहरू कालोनी पर मुकदमा अपराध सख्या 401/23 धारा 420, 406 भादवि का अभियोग पंजीकृत किया गया। अभियोग के अनावरण के लिये  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून अजय सिंह द्वारा थानाध्यक्ष नेहरू कालोनी को आवश्यक निर्देश देते हुए पुलिस टीम का गठन किया गया।

Advertisement

गठित पुलिस टीम द्वारा घटना के सम्बन्ध में पीडित महिला से जानकारी करने पर उक्त घटना में 04 व्यक्तियों का संलिप्त होना प्रकाश में आया। जिस पर पुलिस टीम द्वारा घटना स्थल व उसके आस-पास के मार्गों के सीसीटीवी फुटेज चैक किये गये तो उक्त घटना में एक दिल्ली नम्बर की कार का प्रयुक्त होना प्रकाश में आया, जिसके सम्बन्ध में पुलिस टीम द्वारा जानकारी एकत्रित करते हुए मुखबिर तंत्र को भी सक्रिय किया गया। पुलिस द्वारा किये गये अथक प्रयासों के परिणाम स्वरूप पुलिस टीम को घटना में संलिप्त मुख्य अभियुक्त इन्द्रजीत सिंह पुत्र रघुवीर सिंह निवासी 19/269 त्रिलोकपुरी दिल्ली 35 वर्ष को घटना में प्रयुक्त वाहन संख्या डीएल-04-सीएएफ-6256 के साथ गाजियाबाद से गिरफ्तार करने में सफलता मिली। पूछताछ में अभियुक्त द्वारा अपने साथियों अमन कुमार पुत्र सुरेश कुमार निवासी 29/285 त्रिलोकपुरी दिल्ली 26 वर्ष, कमल पुत्र राम किशन निवासी: 33/210 त्रिलोकपुरी थाना मयूर विहार फेेज 1 दिल्ली 35 वर्ष तथा तमन्ना पत्नी मौ. जावेद निवासी: ई-36 बी/136 अम्बेडकर कैम्प त्रिलोकपुरी, चिल्ला सरोदा खादर, पूर्वी दिल्ली उम्र 20 वर्ष के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया जाना स्वीकार किया गया। जिस पर पुलिस टीम द्वारा घटना में संलिप्त अन्य तीनों अभियुक्तों को दिल्ली में अलग-अलग स्थानो से गिरफ्तार किया गया। जिनके पास से घटना में ठगी गयी ज्वैलरी को बैंक में गिरवी रखकर प्राप्त की गयी नगदी बरामद की गई।

पूछताछ में अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा देहरादून में एक महिला से धोखाधडी कर उससे एक मंगलसूत्र, 02 कान की एयर रिंग तथा 01 अंगूठी ठग  ली थी। प्रात गहनों को अभियुक्ता तमन्ना द्वारा आईआईएफएल फाइनेंस कम्पनी मयूर विहार फेज 1 नई दिल्ली में गिरवी रखकर 67000 रू. का लोन प्राप्त किया था। प्राप्त रकम में से उन सभी के हिस्से में 15-15 हजार रू. आये। बाकी के पैसे उनके आने-जाने में खर्च हो गये थे। पूछताछ में अभियुक्त इन्द्रजीत सिंह का वर्ष 2017 में ठगी के मामले में थाना मसूरी जिला गाजियाबाद से तथा अभियुक्त कमल का थाना मधु विहार दिल्ली से हत्या के प्रयास में जेल जाना ज्ञात हुआ है, अभियुक्तों के अन्य आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है।

Advertisement

 

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

मंत्री गणेश जोशी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को लिखा पत्र

pahaadconnection

उत्तराखंड में डेंगू की रोकथाम को चलेगा महाअभियान

pahaadconnection

प्रकृति तनाव मुक्त करने में मददगार : राज्यपाल

pahaadconnection

Leave a Comment