Pahaad Connection
Breaking Newsउत्तराखंड

महिला कांग्रेस ने निकाली भाजपा सरकार की शव यात्रा

Advertisement

देहरादून। अंकिता भण्डारी के परिजनों के द्वारा अंकिता हत्याकाण्ड में वीआईपी के रूप संलिप्त नेता का नाम उजागर किया गया है परन्तु अभीतक भाजपा की सरकार द्वारा कोई भी कार्यवााही नही की गई है के विरोध में महानगर कांग्रेस कमेटी की अध्यक्षा उर्मिला ढौढियाल थापा के नेतृत्व में सैकड़ों महिला कार्यकत्रियों ने कांग्रेस भवन से एस्लेहाल तक भाजपा सरकार की शव यात्रा निकाली गई। शवयात्रा के उपरान्त भाजपा का पुतला दहन किया गया। इस अवसर पर थापा ने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य में जनपद पौडी गढ़वाल के अर्न्तगत यमकेश्वर ब्लाक में घटित अंकिता हत्याकाण्ड के जधन्य अपराध की घटना मानवता को शर्मसार करने वाली तथा देवभूमि उत्तराखण्ड की अस्मिता को कलंकित करने वाली घटना है। राज्य सरकार ने आजतक कोई भी ठोस कार्यवाही नही की है जिससे महिलायें उद्वेेलित हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओ जैसे खोखिले नारे देकर महिलाओं का अपमान किया है जिसे महिलायें सहन नही करेंगी। उर्मिला ढौंढियाल थापा ने कहा कि अंकिता भण्डारी जघन्य हत्याका.ड की घटना ने साबित कर दिया है कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार में महिलाओं पर अत्याचार की घटनायें लगातार बढती जा रही हैं। अंकिता हत्याकाण्ड जैसे जघन्य अपराध राज्य में महिला सुरक्षा के लिए गंम्भीर चिन्ता का विषय हैं। भाजपा नेता के रिजार्ट में राज्य की बेटी अंकिता भण्डारी के साथ हुई जघन्य अपराध की घटना के उपरान्त जिस प्रकार रातोंरात सबूत नष्ट करने का काम किया गया उससे यह भी स्पष्ट होता है कि भाजपा सरकार में अपराधियों को खुला संरक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस जघन्य आपराधिक घटना में शामिल तथाकथित वी-आई-पी- वं रिसार्ट पर बुल्डोजर चलाने वालों के नामों का खुलासा करने से भी राज्य पुलिस कतरा रही है तथा राज्य सरकार के संरक्षण में इस जघन्य हत्याका.ड के सबूतों को नष्ट करने का काम किया जा रहा है। थापा ने कहा कि भाजपा नेता के पुत्र का रिसॉर्ट होने के चलते राज्य सरकार द्वारा शुरूआत से ही इस जघन्य अपराध की घटना पर पर्दा डालने का काम किया गया। सरकार के दबाव में पहले राजस्व पुलिस द्वारा रिपोर्ट दर्ज करने में हीला हवाली की गई तथा इसके उपरान्त रेगुलर पुलिस द्वारा लापता हुई युवती की चार दिन तक भी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। कानून की नजर में जब कभी भी ऐेसी घटना होती है तो उस स्थान को सील कर दिया जाता है परन्तु रात के अंधेरे में रिसार्ट पर बुल्डोजर चलाकर सबूतों को नष्ट करने का काम किया गया। जिस वीआईपी के नाम पर अंकिता हत्याका.ड को अंजाम दिया गया पीडिता के पिता द्वारा अपने पत्र में उस वीआईपी के नाम का उल्लेख करने के बावजूद उसके नाम का भी खुलासा करने में सरकार के दबाव में पुलिस प्रशासन कतरा रहा है। इस अवसर पर प्रदेश महिला उपाध्यक्ष आशा मनोरमा डोबरियाल, महानगर अध्यक्ष महिला उर्मिला थापा, महानगर अध्यक्ष जसविन्दर सिंह गोगी, चन्द्रकला नेगी, संगीता, सुशीला शर्मा, रेखा ढिंगरा, निधि नेगी, अनुराधा तिवाडी, गुड्डी देवी, उषा नेगी, अनीता दास, संगीता शर्मा, राजकुमारी, मनीष नागपाल, पूरन सिह रावत, मुकेश, संगीता, कौशल्या वर्मा, अंजु, देवेन्द्र सिंह आदि उपस्थित थे।

 

Advertisement

 

 

Advertisement

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

धामी ने दी राज्य के विकास को नई दिशा : चौहान

pahaadconnection

पुलिस अधीक्षक चमोली ने किया पुलिस अधिकारी कर्मचारियों को सम्मानित

pahaadconnection

बिक्री में वृद्धि: ऑटोमोबाइल की खुदरा बिक्री में भारी उछाल, जनवरी में 14% बढ़ी

pahaadconnection

Leave a Comment