Pahaad Connection
Breaking News
देश-विदेश

परमाणु ऊर्जा से चलने वाला भारत का दूसरा स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर आईएनएस विशाल को बनाने की तैयारी

Advertisement

काम शुरू हुआ परमाणु ऊर्जा से चलने वाला भारत का दुसरा स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर INS विशाल को बनाने की तैयारी.

भारतीय नौसेना लगातार अपनी ताकत को बढ़ाने की काम में लगा हुआ है. चाइना को मुंहतोड़ जबाव देने के लिए भारतीय नौसेना ने एक और कदम आगे बढ़ा दिया है.. खबर मिल रही है कि अब भारत तीसरा स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर बनाने की तैयारी में लग गयी है, जिसका नाम INS विशाल होने वाला है और विशाल का मतलब होता है बहुत बड़ा,आप लोग नाम से ही अंदाजा लगा सकते हैं कि.. विशाल कितने विशाल फीचर्स के साथ तैयार होगा ! इससे पहले भारतीय नौसेना को स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर INS विक्रांत भी मिल चुका है और रसिया से खरीदे गए INS विक्रमादित्य मिला हैं !! ये दोनों एयरक्राफ्ट देश के दो छोर पर समुद्री सीमा की सुरक्षा में तैनात होंगे.
स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर INS विशाल को बनाने की तैयारी शुरू हो चुकी है ! INS विशाल तकरीबन 75,000 टन वजन का हो सकता है और साथ ही उसका डिजाइन ब्रिटिश नेवी के क्वीन एलिजाबेथ क्लास एयरक्राफ्ट कैरियर जैसा, हो सकता है. बता दुं कि INS विक्रांत, और INS विक्रमादित्य का वजन तकरीबन तकरीबन 45 हजार टन के आसपास है, और दोनों एयरक्राफ्ट पर तकरीबन 35 से 40 फाइटर प्लेन तैनात किए जा सकते हैं !! वहीं कहा जा रहा है कि INS विशाल पर 60 फाइटर प्लेन तैनात हो सकेंगे…… INS विशाल को बनाने के लिए मंथन 2012 में शुरू कर दिया था. पहले इसके डिजाइन के लिए किसी भी देश से मदद, नहीं लेने का फैसला लिए गये थे, लेकिन बाद में भारतीय नौसेना की नेवल डिजाइन ब्यूरो ने रूसी एयरक्राफ्ट के डिजाइन से, मदद लेने का फैसला लिया गया. जिसके बाद भारत और रूस मिलकर 2015 में इसकी डिजाइनिंग और डेवलपमेंट के लिए ग्रुप बनाया.. गौरतलब है कि इस वक्त भारत के पास दो एयरक्राफ्ट कैरियर है…. INS विशाल आने के बाद भारत की सुरक्षा क्षमता में बड़ा इजाफा होगा. बता दूं कि INS विक्रांत पहला स्वदेशी और सबसे बड़ा एयरक्राफ्ट है और अब इस लिस्ट में INS विशाल का नाम भी जुड़ गया है INS विशाल को कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड द्वारा बनाया जाएगा..!! यह भारत में निर्मित होने वाला पहला सुपर विमान वाहक पोत होने वाला है…. और एक सबसे महत्वपूर्ण और बड़ी बात यह है कि INS विशाल परमाणु ऊर्जा से चलने वाला भारत का पहला एयरक्राफ्ट कैरियर होगा.इसमें ओर भी बहुत सारे टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाएगा, जिसे अभी गुप्त रखा गया है…
Advertisement
Advertisement

Related posts

माता वैष्णों देवी के कटरा में लगे भूकंप के झटके

pahaadconnection

दिल्ली हाईकोर्ट ने एनएसई की पूर्व अध्यक्ष चित्रा रामकृष्ण को जमानत दी, फोन टैपिंग का था मामला

pahaadconnection

विधानसभा सत्र को लेकर एसएसपी देहरादून ने की ब्रीफिंग

pahaadconnection

Leave a Comment