Pahaad Connection
Breaking News
उत्तराखंड

मेडिकल काॅलेजों में बजट खर्च न होने पर होगी कार्रवाईः डाॅ. धन सिंह रावत

Advertisement

देहरादून । 
सूबे के राजकीय मेडिकल काॅलेजों को स्वीकृत बजट समय पर खर्च करने के जिम्मेदारी संबंधित प्राचार्य एवं वित्त नियंत्रक की होगी जबकि काॅलेजों में निर्माणाधीन कार्यों को पूर्ण करने में लापरवाही बरतने वाली कार्यदायी संस्थाओं के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। राजकीय मेडिकल काॅलेजों में एनएमसी मानकों के अनुरूप शैक्षणिक पदों, गैर शैक्षणिक एवं पैरामेडिकल स्टाॅफ के पदों का ढांचा तैयार कर शीघ्र कैबिनेट में लाया जायेगा। स्वास्थ्य मंत्री डाॅ0 धन सिंह रावत ने आज दून मेडिकल काॅलेज के सभागार में चिकित्सा शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक ली। जिसमें उन्होंने सूबे के राजकीय मेडिकल काॅलेजों द्वारा वर्तमान वित्तीय वर्ष के लिये स्वीकृत बजट खर्च करने की धीमी गति पर नाराजगी जताते हुये संबंधित अधिकारियों को फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि मेडिकल काॅलेजों के लिये स्वीकृति बजट को ससमय खर्च करने की जिम्मेदारी संबंधित प्राचार्य व वित्त नियंत्रक की होगी, यदि बजट खर्च में लापरवाही बरती गई तो संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।

Advertisement

इसी प्रकार विभिन्न मेडिकल काॅलेजों में चल रहे निर्माण कार्यों की प्रगति पर भी असंतोष व्यक्त करते हुये विभागीय मंत्री ने निर्माण कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि यदि कोई निर्माण कार्यों में किसी कार्यदायी संस्था की लेटलतीफी सामने आती है तो उसके विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। राजकीय मेडिकल काॅलेजों में कार्मिकों की कमी को पूरा करने के लिये उन्होंने एनएमसी मानकों के अनुरूप टीचिंग एवं अन्य आवश्यक कार्मिकों का ढांचा तैयार कर कैबिनेट में लाने के निर्देश दिये।

इसके साथ ही मेडिकल काॅलेजों हेतु सहायक प्राध्यापक की न्यूनतम आयु सीमा में संशोधन, मेडिकल सुपरिटेंडेंट के पद के वेतनमान वृद्धि संबंधी प्रस्ताव, सीनियर रेजीडेंट का मानदेय बढ़ाने के अलावा मेडिकल काॅलेजों में वर्षों से कार्यरत कार्मिकों का वन टाइम सेटलमेंट संबंधी प्रस्ताव कैबिनेट में लाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने मेडिकल विश्वविद्यालय एवं चिकित्सा शिक्षा निदेशालय में रिक्त पदों को प्रतिनियुक्ति/सेवास्थानांतरण के आधार पर शीघ्र भरने के निर्देश भी दिये। डाॅ0 रावत ने श्रीनगर मेडिकल काॅलेज में वर्षों से तैनात 350 से अधिक अल्प वेतनभोगी कार्मिकों को समान कार्य एवं समान वेतन के तहत न्यूनतम वेतनमान देने संबंधी आदेश शीघ्र जारी करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये।
बैठक में सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ. आर. राजेश कुमार, कुलपति उत्तराखंड चिकित्सा शिक्षा विश्वविद्यालय प्रो. हेमचन्द्र, अपर सचिव चिकित्सा शिक्षा अरूणेन्द्र सिंह, गरिमा रौंकली, निदेशक चिकित्सा शिक्षा डाॅ. आशुतोष सयाना, प्राचार्य श्रीनगर मेडिकल काॅलेज डाॅ. सीएमएस रावत, प्राचार्य हल़्द्वानी मेडिकल काॅलेज डाॅ. अरूण जोशी, प्राचार्य अल्मोड़ा मेडिकल काॅलेज डाॅ. सीपी भैसोड़ा, संयुक्त निदेशक चिकित्सा शिक्षा डाॅ. एमके पंत सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Advertisement
Advertisement

Related posts

अपर मुख्य सचिव ने ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट की तैयारियों का लिया जायज़ा

pahaadconnection

शिक्षा महानिदेशक ने ली विभागीय अधिकारियों की ऑनलाइन बैठक

pahaadconnection

रक्षा मंत्री से किया चमोली में सैनिक स्कूल के निर्माण का अनुरोध

pahaadconnection

Leave a Comment