Pahaad Connection
Breaking News
Breaking Newsउत्तराखंडदेश-विदेश

पूरी दुनिया में छा गया उत्तराखंड का बेटा करण थपलियाल

Advertisement

देहरादून। ऑस्कर पुरस्कार समारोह में जैसे ही डॉक्यूमेंट्री “द एलिफेंट व्हिस्पर्स” के नाम की घोषणा की गई, उत्तराखंड के एक बेटे पूरी दुनिया में छा गया। पौड़ी के नौगांव निवासी करण थपलियाल के कैमरे से शूट हुई इस डॉक्यूमेंट्री ने देश ही नहीं उत्तराखंड का भी नाम रोशन किया हैं। निर्माता गुनीत मोंगा की डॉक्यूमेंट्री “द एलिफेंट व्हिस्पर्स” को इस साल ऑस्कर अवॉर्ड मिला हैं। ये एक नेटफ्लिक्स डॉक्यूमेंट्री है। जो कि कार्तिकी गोंजाल्विस द्वारा निर्देशित और गुनीत मोंगा द्वारा निर्मित है। पौड़ी के नौगांव निवासी युवा करण थपलियाल ने इस डॉक्यूमेंट्री को फिल्माने में अपने कैमरे का कमाल दिखाया हैं।वर्तमान में करण का परिवार दिल्ली में रहता है। उनका एक भाई भी सिनेमैटोग्राफर हैं। उनकी एक दुकान थी, जहां करन और उनका भाई अक्सर बैठा करता था। बचपन में पिता को देखकर कैमरे की बारीकियां सीखीं। बबचपन में जो कैमरा उनके पिता ने उन्हें सौंपा था, वही कैमरा आज उन्हें दुनिया के क्षितिज पर ले गया है। सिनेमैटोग्राफी की शुरुआती शिक्षा अपने पिता से लेने के बाद करण ने इसी क्षेत्र में करियर बनाने की ठानी।
आस्कर पुरस्कार से सम्मानित डाक्यूमेंट्री फिल्म ‘द एलीफेंट व्हिस्परर्स’ के सिनेमेटोग्राफी करन थपलियाल मूलरूप से उत्तराखंड के रहने वाले हैं। पौड़ी गढ़वाल जिले के पाबौ ब्लाक स्थित ग्राम नौगांव मल्ला निवासी करन की डाक्यूमेंट्री फिल्म लगातार दूसरी बार आस्कर के लिए नामित हुई थी। हालांकि पिछली बार उनकी डाक्यूमेंट्री ‘राइटिंग विद फायर’ आस्कर जीतने से चूक गई थी, जिसकी कसर इस बार ‘द एलीफेंट व्हिस्परर्स’ ने पूरी कर दी। सोमवार सुबह पौने सात बजे करन को उनके दिल्ली स्थित आवास पर आस्कर जीतने की खबर मिली। इसके बाद से बधाइयों का दौर चल रहा है। वर्तमान में करन थपलियाल परिवार के साथ दिल्ली के खानपुर में रहते हैं और पिछले 15 साल से सिनेमेटोग्राफी कर रहे हैं। इस बीच उन्होंने कई डाक्यूमेंट्री और शार्ट फिल्मों के लिए काम किया। द एलीफेंट व्हिस्परर्स, राइटिंग विद फायर और द प्रेसीडेंट्स बाडीगार्ड उनकी चुनिंदा डाक्यूमेंट्री में शामिल हैं। करन के पिता विनोद थपलियाल पेशे से फोटोग्राफर हैं। उनके पिता का शौक धीरे-धीरे करन को सिनेमेटोग्राफी के क्षेत्र में ले गया। करन ने नई दिल्ली स्थित श्री अरविंदो सेंटर फार आर्ट्स एंड कम्युनिकेशन से फिल्म मेकिंग एंड फाइन आर्ट्स में मास्टर डिग्री ली है। करन की मां सुधा थपलियाल गृहिणी हैं।

Advertisement
Advertisement

Related posts

जिलाधिकारी रीना जोषी : बागनाथ मंदिर समेत आसपास के क्षेत्रों को दिव्य एवं भव्य स्वरूप देकर विकास कार्य किये जायेंगे।

pahaadconnection

मानस खंड को लेकर पीएम के ट्वीट और दुनिया मे उत्सुकता का मतलब प्रयास सफल : भट्ट

pahaadconnection

जोशीमठ-मलारी ऊच्चमार्ग पर बीआरओ ने बनाया वैकल्पिक पैदल रास्ता

pahaadconnection

Leave a Comment