Pahaad Connection
Breaking Newsउत्तराखंड

कांग्रेस कार्यकताओं ने किया जिला पूर्ति अधिकारी कार्यालय का घेराव

Advertisement

देहरादून। जिले में राशन वितरण से सम्बंधित समस्याओं को लेकर कांग्रेस कार्यकताओं ने जिला पूर्ति अधिकारी के कार्यालय का घेराव किया। कांग्रेस कार्यकर्ता कांग्रेस भवन में एकत्रित हुए और वहां से जुलूस की शक्ल में महानगर अध्यक्ष डॉ. जसविन्दर सिंह गोगी के नेतृत्व में डिस्पेंसरी रोड स्थित जिला पूर्ति अधिकारी के कार्यालय के बाहर पहुंचे। यहां पर नारेबाजी और प्रदर्शन करते हुए कार्यकताओं ने जिला पूर्ति अधिकारी को व्यवस्था को तत्काल सुधारने की मांग करते हुए एक ज्ञापन दिया। श्री गोगी ने कहा कि पूर्व में जब कांग्रेस की सरकार थी तो राज्य के एपीएल कार्ड धारकों को 10-10 किलो गेहूं और चावल दिया जा रहा था परंतु जब से भाजपा की सरकार आई है, उसको बंद कर दिया गया है। अब मात्र साढ़े सात किलो चावल दिया जा रहा है जो कि एक परिवार के लिए बिल्कुल ही अपर्याप्त है। पूर्व में राशन की दुकानों में  चीनी भी दी जाती थी जो बंद कर दी गयी है। इसके अलावा राशन में कोई भी अन्य सामग्री किफायती दरों पर नहीं दी जा रही है जिससे जनता महंगाई से और अधिक त्रस्त है। राशन की दुकानों पर गेहूं चावल के अलावा कोई अन्य सामग्री नहीं दी जा रही है जबकि महंगाई आज अपने चरम पर है। रिफाइंड तेल हो, सरसों का तेल, दालें, मसाले और अन्य खाद्य वस्तुएं जिनके दाम आसमान छू रहे हैं ; ऐसी चीजों को राशन की दुकानों पर पूर्ववत दिया जाना चाहिए। गोगी ने प्रश्न उठाया कि जब पूरी पारदर्शिता के साथ राशन वितरण किया जा रहा है और सिस्टम बायोमेट्रिक हो चुका है और अंगूठा लगने के बाद ही राशन दिया जाता है तो राशन डीलरों का कमीशन महीनों लंबित रख कर उनका उत्पीड़न क्यों किया जा रहा है। आज 10 -15 महीने गुजर जाने के बाद भी उनका उनका कमीशन नहीं दिया गया है और उनसे फ्री में राशन बंटवाया  जा रहा है। ऐसे में उनको अपनी जीविका चलाने के लाले पड़ गए हैं। राशन विक्रेताओं को एक तो जो कमीशन दिया जा रहा है वह बहुत कम है और वह भी समय पर नहीं दिया जाता।

तत्काल एपीएल कार्ड धारकों को राहत देते हुए 15 किलो गेहूं और 15 किलो चावल दिया जाए। पूर्व में कांग्रेस शासन के समय की तरह इसके साथ में चीनी, मसाले, रिफाइंड तेल, सरसों का तेल और अन्य आवश्यक खाद्य पदार्थ राशन की दुकानों पर उपलब्ध कराए जाएं ताकि आम जनता को महंगाई से राहत मिल सके और राशन विक्रेता भी लाभान्वित हो सकें। राशन विक्रेताओं का भुगतान भारत सरकार द्वारा  5 माह का आवंटन कर दिया है परंतु देहरादून में केवल तीन माह का ही भुक्तान किया है, जबकी अन्य जिलों में पूर्ण हो गया है जो भ्रष्टाचार की ओर स्पष्ट इशारा करता है l ऐसी सूचना विक्रेताओ द्वारा शिकायत दी जा रही है कि अधिकारियों द्वारा मोटी कमीशन जबरन वसूली की जा रही है। ऐसी घटना तत्काल उच्च स्तरीय जांच कराकर दोषियों को दण्डित किया जाए। राज्य में उत्पादित पौष्टिक मोटे अनाज जैसे कोदा, झंगोरा आदि भी राशन की दुकानों के माध्यम से वितरित किये जायें। अन्यथा की स्थिति में कांग्रेस कार्यकर्ता इन मांगों को लेकर आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। प्रदर्शन में मुख्य रूप से प्रदेश महासचिव नवीन जोशी, मनीष नागपाल, प्रदेश प्रवक्ता आशीष नौटियाल, पार्षद रमेश कुमार मंगू, सचिन थापा, ईतात खान, मुनिक अहमद, राजेश पुण्डिर, मौ. फारूख, चुन्नीलाल ढिंगरा, देवेन्द्र सिंह, विरेन्द्र पंवार, शकील मंसूरी, आफताब अहमद, शहजाद अंसारी, वक्कार अहमद, उदय सिंह, मुकेश रेगमी, दलबीर, रईस, रिपु दमन सिंह, पुनम कण्डारी, अर्जुन पासी, सुमित देवरानी, अमनदीप सिंह, आदर्श सूद, साहिद अहमद जमाल, सावित्री थापा, मंजू चौहान, सुनिता गुप्ता, फैजल, हेमन्त उप्रेती, सुभाष धीमान, अवधेश कटारिया, राजेश उनियाल, अशोक कुमार, जगदीश शर्मा, पूरण आर्य आदि उपस्थित थे।

Advertisement

 

 

Advertisement

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

भूमि की अनियंत्रित खरीद फरोख्त को रोकने की मांग

pahaadconnection

बिना अनुमति प्राप्त किये मुख्यालय नहीं छोड़ेगे जिला स्तरीय अधिकारी : जिलाधिकारी

pahaadconnection

थाना सेलाकुई पुलिस ने किया नकबजनी की घटना का सफल अनावरण

pahaadconnection

Leave a Comment