Pahaad Connection
Breaking Newsउत्तराखंडराजनीति

मोहब्बत की दुकान का दावा करने वालों को सनातन संस्कृति से नफरत क्यों : नरेश बंसल

Advertisement

देहरादून 12 अप्रैल। भाजपा ने पीएम मोदी की रैली को ऐतिहासिक और अभूतपूर्व बनाने के लिए देवतुल्य जनता का आभार व्यक्त किया है। प्रदेश चुनाव प्रबंध समिति संयोजक एवं राज्यसभा सांसद नरेश बंसल ने दावा किया कि मोदी जी की दोनो सभाएं पांचों उम्मीदवारों के 5 लाख से अधिक मतों से जीत की गारंटी है। उन्होंने प्रियंका वाड्रा के दौरे पर सवाल खड़ा करते हुए कहा, मोहब्बत की दुकान का दावा करने वालों को सनातन संस्कृति और मातृ शक्ति से नफरत क्यों है? क्यों राज्य में एक भी महिला को उम्मीदवारी के योग्य नहीं माना, क्यों महिला अपमान पर अपनी पार्टी में वो क्यों नहीं लड़ते हैं। लोकसभा चुनाव के दृष्टिगत रिस्पना पुल स्थित प्रदेश मीडिया सेंटर में पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए श्री बंसल ने कहा, जिस तरह युवाओं, मातृशक्ति, पूर्व सैनिक, सर्व समाज समेत देवभूमि के सभी वर्गों ने लाखों की संख्या में पहुंचकर अपना आशीर्वाद मोदी जी को दिया उसके लिए सभी का पार्टी बहुत बहुत आभार व्यक्त करती है। उन्होंने कहा, आईडीपीएल मैदान में कल जिस तरह का सैलाब उमड़ा, वह दर्शाता है कि लोकतंत्र के महापर्व में देवभूमि पूरी तरह भाजपामय हो गई है। इससे पहले रुद्रपुर की रैली के बाद से समूचे मानसखंड और तराई के मैदानों में विकसित भारत निर्माण के पक्ष में लहर बह रही है । वहीं कल केदारखंड समेत समूची धर्मनगरी का ये रैला देखने के बाद, उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव में उतरे मोदी जी के पांचों सिपाहियों की प्रचंड जीत को दर्शाता है। उन्होंने कहा,  यूं तो प्रधानमंत्री मोदी जी के मार्गदर्शन और मुख्यमंत्री धामी के नेतृत्व में डबल इंजन की सरकार ने जिस तरह ऐतिहासिक एवं युग परिवर्तनकारी कार्य किए हैं। उससे देवभूमि की जनता ने मोदी जी को आशीर्वाद देने का मन पहले से ही बनाया हुआ था। लेकिन मोदी जी के प्रेरणाप्रद एवं ओजस्वी भाषण के बाद सभी सीटें 75 फीसदी से अधिक मतों से जीतना भी अब निश्चित हो गया है। उन्होंने पार्टी के आगामी कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए कहा, पीएम के शंखनाद के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री श्री अमित शाह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत पार्टी के बड़े नेता देवभूमि पहुंचकर मार्गदर्शन कर रहे हैं। उनके विचारों और मार्गदर्शन को जन-जन तक पहुंचाने के लिए संगठन तय योजना और रणनीति के अनुशार बूथ स्तर तक सक्रिय होकर काम कर रहा है। आज पार्टी के प्रत्येक कार्यकर्ता के सामने लक्ष्य स्पष्ट है, जीतोड़ मेहनत से प्रदेश के सभी पोलिंग स्टेशनों पर कमल खिलाना और मोदी जी को प्रचंड बहुमत के साथ तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाना। उन्होंने कांग्रेस पार्टी लगातार भ्रम, झूठ एवं अफवाह फैलाने की राजनीति करने का आरोप लगाया। साथ ही कटाक्ष किया कि आज जिस तरह अनर्गल, बेबुनियाद आरोपों पर उतर आई है वो स्पष्ट करता है कि कांग्रेस पार्टी ने अपनी हार स्वीकार ली है। उन्होंने स्पष्ट किया कि यहां सवाल सिर्फ कांग्रेस की हार का नही है, क्योंकि भाजपा तो पहले ही अनेकों बार स्पष्ट कर चुकी है कि हमारे लिए ये चुनाव किसी को हराने का नही, बल्कि विकसित और समृद्ध भारत के निर्माण के लिए अधिकांश देशवासियों को साथ लाने का है। ये चुनाव अपने पिछले सभी चुनावों में मिली जीत की लकीर और अधिक बड़ा करने का है। श्री बंसल ने प्रियंका वाड्रा के दौरे तंज कसते हुए कहा, चलो उनके किसी पहले बड़े नेता ने तो कल उत्तराखंड में जनता के सामने आने का साहस किया है। अब चूंकि उनकी आने वाली नेता श्रीमती प्रियंका वाड्रा भी महिला हैं लिहाजा चंद महत्वपूर्ण सवालों का जवाब तो उन्हे कल के अपने कार्यक्रमों में देना ही चाहिए। पहला, मोहब्बत की दुकान चलाने का दावा करने वालों को सनातन संस्कृति से इतनी नफरत क्यों है ? उनके नेता और सहयोगी पार्टियां, सनातन धर्म के नाश की बात तो करते ही थे अब उनके भाई सनातनियों की आराध्य शक्ति को भी नष्ट करने की बात का दुस्साहस करते हैं। क्यों वे मां धारी देवी, मां चंद्रबनी, मां जालपा देवी, मां सरकुंडा देवी, मां मनसा देवी, मां चंडी देवी जैसी आदि अनेक मां शक्तियों से नफरत करते हैं ? क्यों एक के बाद एक, लगातार आपके बड़े नेताओं द्वारा मातृशक्ति का अपमान किया जाता है। आपकी एक बड़ी नेत्री महिला उम्मीदवार पर अभद्र पोस्ट करती है और आपकी पार्टी उसे पर कार्यवाही करने की बजाय इनाम देते हुए, पार्टी का न्याय पत्र जारी करने के लिए उत्तराखंड भेज देती है। हमारा सवाल है कि लड़की हूं लड़ सकती हूं का नारा देने वाली आप कैसी लड़की हैं जो महिलाओं के साथ अत्याचार एवं अपमान पर अपनी ही पार्टी में नहीं लड़ती सकती हैं।इस सवाल का जवाब भी उन्हें देना चाहिए कि मातृशक्ति के सामर्थ्य वाले उत्तराखंड में एक भी महिला को उन्होंने लोकसभा टिकट के लायक नहीं समझा। उन्हें इस सवाल का जवाब भी देना होगा कि मोदी सरकार द्वारा दिए नारी शक्ति वंदन आरक्षण के जिस अधिकार को वे तत्काल लागू करने की बात करते हैं उसे उन्होंने 7 दशकों तक क्यों नहीं पास किया। जबकि एक नहीं तीन-तीन बार महिला प्रधानमंत्री और 23 वर्षों तक राष्ट्रीय अध्यक्ष के महिला होने के बाद भी क्यों कांग्रेस पार्टी ने कभी मातृशक्ति को उसके इस अधिकार से वंचित रखा। उन्होंने जोर देते हुए कहा, देवभूमि की जनता ने मोदी जी को आशीर्वाद देने का मन बनाया हुआ है, लिहाजा कांग्रेस नेताओं के आने, न आने से चुनाव परिणाम पर कोई भी फर्क नहीं पड़ने वाला है। और यह बात उनके स्थानीय नेता और पार्टी के उम्मीदवार भी अच्छी तरह जानते हैं। लेकिन एक राजनीतिक पार्टी होने के नाते हम चाहते हैं कि मातृ शक्ति के अपमान पर हमारे इन सवालों का जवाब, स्थानीय कांग्रेस नेताओं को भी अपनी बड़ी नेता से अवश्य लेना चाहिए? इस दौरान उन्होंने रिपोर्ट कार्ड को लेकर कांग्रेस के सवालों का जवाब देते हुए कहा, हम एकमात्र पार्टी हैं जो प्रत्येक वर्ष अपनी सरकार के कामकाज का लेखा-जोखा प्रस्तुत करती है और यह परंपरा विगत 10 वर्षों से निरंतर जारी है। इतना ही नहीं हमारे रिपोर्ट कार्ड के आधार पर जनता भी लगातार चुनाव के माध्यम से रिजल्ट जारी करती रहती है जिसमें हम प्रत्येक बार पूर्ण डिक्टेशन के साथ उत्तीर्ण होते हैं। पत्रकार वार्ता में प्रदेश प्रवक्ता श्री सुरेश जोशी, सह मीडिया प्रभारी राजेंद्र नेगी, प्रदेश प्रवक्ता श्रीमती सुनीता विद्यार्थी, श्रीमती कमलेश रमन, संपर्क प्रमुख राजीव तलवार प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

 

Advertisement

 

 

Advertisement

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

महाराज ने टूटे मालन पुल का किया निरीक्षण

pahaadconnection

सतपाल महाराज ने जोशीमठ के प्रभावित क्षेत्रों का किया निरीक्षण

pahaadconnection

दिल्ली को नहीं मिला मेयर, सदन फिर से स्थगित; आप-भाजपा की लड़ाई जारी

pahaadconnection

Leave a Comment