Pahaad Connection
Breaking News
स्वास्थ्य और फिटनेस

अपनी भावनाओं को समझने का प्रयास करें, ना की भ्रमित रहे!

Advertisement

मनोदशा एक मनोवैज्ञानिक अवस्था है, जिसमें व्यक्तिपरक, शारीरिक और व्यवहारिक पहलू शामिल होते हैं, लेकिन लोग अक्सर इन दो शब्दों, अवसाद और चिंता के बीच भ्रमित हो जाते हैं। लोग यह समझ नहीं पाते कि वह उदास है या किसी बात को लेकर चिंतित है। अधिकांश लोग इन दो अलग-अलग भावनाओं के बीच अंतर नहीं कर पाते हैं।

निरंतर मानसिक तनाव या नियमित गतिविधियों में रुचि की कमी जो आपकी दैनिक गतिविधियों में बाधा डालते हैं, उन्हें ‘अवसाद’ कहा जाता है, जबकि आपकी रोज़ की स्थितियों के बारे में आपके मन में किसी भी डर को चिंता कहा जा सकता है, जैसे की दिल तेज़ी से धड़कना, ज़ोर ज़ोर से सांस लेना, पसीना और थकान महसूस होना। अवसाद और चिंता कभी-कभी साथ में भी हो सकती है – चिंता किसी व्यक्ति के अवसाद का लक्षण हो सकती है। लेकिन लगातार चिंता या पैनिक डिसऑर्डर से डिप्रेशन और पैनिक अटैक हो सकता है। अवसाद और चिंता के बीच अंतर यह है कि अवसाद उदासी, निराशा और कम ऊर्जा की कमी का कारण बनता है जबकि चिंता में घबराहट और भय की भावनाओं का अनुभव होता है।’

Advertisement

डिप्रेशन मूड की एक ऐसी स्थिति को दर्शाता है जहां उदासीनता और आलस्य ज्यादा है। चिंता के कारण तनाव और भय रहना आम बात है। अवसाद से पीड़ित लोगों के लिए चिंता का अनुभव करना भी संभव है। डिप्रेशन से ग्रसित लोग भी अक्सर उदासी का अनुभव करते हैं, लेकिन डिप्रेशन से पीड़ित सभी लोग चिंतित नहीं होते हैं।

अगर आप भी इन लक्षणों का अनुभव कर रहे हैं, और इन दोनों स्थितियों को नियंत्रण में रखने के लिए तुरंत मनोवैज्ञानिकों या किसी मनोचिकित्सक की मदद लें। खुद की विशेष रूप से देखभाल करें। यह आदत आपके अवसाद और चिंता के लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद करेगी। जब चिंता और अवसाद के इलाज की बात आती है, तो अधिकांश दवाएं दोनों स्थितियों में समान रूप से प्रभावी होती हैं। हालांकि, इसके निदान में उपयोग की जाने वाली तकनीकों में थोड़ा अंतर है।

Advertisement
Advertisement

Related posts

फटे होठो की समस्या से हैं परेशान तो अपनाए ये घरेलु उपाय

pahaadconnection

इमली का जूस होता है सेहत के लिए बेहद फायदेमंद, जाने इसके विशेष लाभ

pahaadconnection

हाई बीपी के मरीजों को त्योहारों के दौरान विशेष ध्यान देना चाहिए, इन खाद्य पदार्थों का सेवन न करें, अन्यथा स्वास्थ्य बिगड़ सकता है

pahaadconnection

Leave a Comment