Pahaad Connection
देश-विदेश

नहीं रही महारानी एलिजाबेथ,96 साल की उम्र में ली अंतिम सांस… जानें कौन थी महारानी एलिजाबेथ….

Advertisement

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का निधन हो गया है। वह पिछले कुछ वक्त से बीमार थी 96 साल की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय फिलहाल स्टॉकलैंड के बाल्मोरल कैसल में थी वहीं पर उनका निधन हुआ । इस पर शाही परिवार का बयान आया।

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की बीमारी के कारण निधन हो गया। बता दें कि स्टॉकलैंड में अपने बाल्मोरल कैसल स्थित आवास पर डॉक्टरों की देखरेख में थी। बर्मिंघम पैलेस ने गुरुवार को बताया कि उनके बेटे और उत्तराधिकारी प्रिंस चार्ल्स, उनकी पत्नी कैमिला और पोते प्रिंस विलियम बाल्मोरल गए हैं। महारानी की बेटी राजकुमारी ऐनी पहले से ही स्कॉटिश महल में उनके साथ हैं। अब उनके बच्चे प्रिंस एंड्रयू और प्रिंस एडवर्ड वहां पहुंच गए हैं। प्रिंस हैरी और उनकी पत्नी मेगन जो एक चैरिटी कार्यक्रम के लिए ब्रिटेन में थे महारानी के पास पहुंच गया महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने कंजरवेटिव पार्टी के नेता लिज ट्रस को मंगलवार को औपचारिक रूप से ब्रिटेन की नई प्रधानमंत्री नियुक्त किया था। ट्रस्ट 96 वर्षीय महारानी से मिलने के लिए स्टॉकलैंड के एब्दिर शायर में उनके बाल्मोरल कैसल स्थित आवास पहुंची थी।इससे पहले हाउस ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष सर लिंडसे हायल ने संसद में उर्जा विधायक पर जारी चर्चा को रोक दिया था ताकि सांसदों को महारानी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी दी जा सके। विपक्षी दल लेबर पार्टी के नेता कीरस्टार ने ट्वीट किया था कि “देश के अन्य लोगों के साथ में बर्मिंघम पैलेस की खबर से बहुत चिंतित हूं “कौन थी महारानी एलिजाबेथ
महारानी एलिजाबेथ द्वितीय 21 अप्रैल 1926 को पैदा हुई थी तब उनके दादा जॉर्ज पंचम के शासन हुआ करते थे। उनके पिता अल्बर्ट जो बाद में जार्ज छठे के तौर पर जाने गए। वह जॉर्ज पंचम के दूसरे बेटे थे। उनकी मां एलिजाबेथ यार्क की डचेच थी। यही बाद में एलिजाबेथ के नाम से जानी गई तभी महारानी को एलिजाबेथ दीजिए के तौर पर जाना गया।
उनकी बहन राजकुमारी मार्केट और उनके घर पर ही मां और एक टीचर ने पढ़ाया।साल 1950 में उनकी नैनी काफ्रॉड ने एलिजाबेथ और उनकी बहन पर द लिटिल प्रिंसेसेज नाम की बायोग्राफी लिखी थी। इसी में उन्होंने महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के बारे में बताया था कि उन्हें घोड़ों और पालतू कुत्तों से बेहद लगाव था। वह बेहद अनुशासन प्रिय होने के साथ ही जिम्मेदार स्वभाव वाली थी। इसी में उनकी चचेरी बहन मार्गरेट हॉड्स ने उन्हें एक चुलबुली छोटी लड़की लेकिन बेहद संवेदनशील व सभ्य बताती है।यूनाइटेड किंगडम की महारानी के पास पासपोर्ट नहीं था क्योंकि देश के नागरिकों को वही पासपोर्ट जारी करती थी। लेकिन उनके पास गोपनीय दस्तावेज रहते थे। साल 1951 में एलिजाबेथ अमेरिकी राष्ट्रपति हैरी एस ट्रूमैन से राजकुमारी के तौर पर मिली थी। लेकिन 1957 में क्वीन एलिजाबेथ ll के तौर पर अमेरिका के अधिकारी दौरे पर वह तत्कालीन राष्ट्रपति आइजनहवार से मिली थी। महारानी एलिजाबेथ ll ने 1957 में पहली बार टीवी के माध्यम से लोगों को संबोधित किया था
पॉपुलर म्यूजिक बैंड बीटल्स अक्टूबर 1965 मैं महारानी एलिजाबेथ टू से मिलने बर्मिंघम पैलेस गया था। महारानी एलिजाबेथ ll ने 1986 में चीन का दौरा किया था यह पहला मौका था जब ब्रिटेन की महारानी चीन गई हो ।ग्लोबल गुडविल टूर में चंद्रमा पर जाने से पहले शख्स नील आर्म स्ट्रांग, बज एल्ड्रिन और माइकल कॉलिंस ने 14 अक्टूबर 1969 को बर्मिंघम पैलेस में महारानी एलिजाबेथ ll से मुलाकात की थी। महारानी एलिजाबेथ ll ने पहली शाही यात्रा में 1970 में ऑस्ट्रेलिया की थी। महारानी एलिजाबेथ ll ने जुलाई 1996 में साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला को बर्मिंघम पैलेस में आमंत्रित किया था।
Advertisement
Advertisement

Related posts

कुश्ती में विवाद से भारत को बड़ा नुकसान अब इस देश को मिली एशियन चैंपियनशिप की मेजबानी

pahaadconnection

केंद्रीय बजट के जन-समर्थक पहलुओं पर प्रकाश डालें: मोदी ने भाजपा सांसदों से कहा

pahaadconnection

दिल्ली: गणतंत्र दिवस परेड में ‘मेड-इन-इंडिया’ हथियारों और नारी शक्ति का शानदार प्रदर्शन

pahaadconnection

Leave a Comment