Pahaad Connection
Breaking Newsउत्तराखंडदेश-विदेश

रिलायंस जियो ने इंडो-तिब्बत बॉर्डर पर भारत के आखिरी गांव माणा में 4जी सर्विस चालू की

Advertisement

चमोली। रिलायंस जियो ने इंडो-तिब्बत बॉर्डर पर भारत के आखिरी गांव माणा में 4जी सर्विस चालू कर दी है। चमोली जिले के माणा गांव में पहली बार मोबाइल की घंटी बजी है। रिलायंस जियो माणा गांव क्षेत्र में सर्विस देने वाला पहला ऑपरेटर बन गया है। अब तक इस एरिया में किसी भी तरह की दूरसंचार कनेक्टिविटी उपलब्ध नही थी। इस मौके पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने एक वीडियो संदेश में कहा “हमारे प्रधान मंत्री के ‘डिजिटल इंडिया’ विज़न के अनुरूप और उत्तराखंड को ‘डिजिटल देवभूमि’ में बदलने के अपने प्रयास में आज, जियो उत्तराखंड के आखिरी भारतीय गांव माणा तक 4 जी सेवा लाने में सफल रहा। माणा गांव में जियो द्वारा 4जी सेवा की शुरुआत सराहनीय है। इतने दूर दराज़ के इलाके में टावर लगाने वाला जियो पहला ऑपरेटर है। मैं जियो को धन्यवाद देना चाहता हूं, वे डिजिटल परिदृश्य पर राज्य के विकास की दिशा में लगातार काम कर रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि जल्द ही उत्तराखंड के नागरिकों के लाभ के लिए जियो अपनी 5जी सेवाएं शुरू कर देगा।“ माणा गांव में 4जी सेवाओं के वर्चुअल लॉन्च कार्यक्रम में बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजय अजेंद्र, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी डेवलेपमेंट एजेंसी, उत्तराखंड के डायरेक्टर अमित सिन्हा और रिलायंस जियो के प्रमुख अधिकारी शामिल हुए। स्वर्ग के द्वार के तौर पर मशहूर माणा गांव को उत्तराखंड सरकार ने ‘टूरिज्म विलेज’ का तमगा दिया हुआ है। परंतु अब जियो 4जी दूरसंचार सेवाएं शुरू होने से सैलानियों की तादाद में इजाफा होने की उम्मीद है। इससे स्थानीय टूरिज्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों को भी फायदा होगा। यह मोबाइल टावर साइट, माणा गांव क्षेत्र में सेवारत आईटीबीपी कर्मियों, ग्रामीणों और पर्यटकों को 4जी वॉयस और डेटा सेवाएं प्रदान करेगी। यह भीम शिला, व्यास गुफा, गणेश गुफा आदि जैसे अन्य महत्वपूर्ण पर्यटक और धार्मिक क्षेत्रों को भी कवर करेगी। जियो के उत्तराखंड में 4800 से अधिक टावर हैं, जो राज्य में किसी भी अन्य ऑपरेटर की तुलना में काफी अधिक है। जियो का 4जी नेटवर्क अब उत्तराखंड के सभी कस्बों और 16900 से अधिक गांवों में उपलब्ध है। जो इसे राज्य का सबसे बड़ा और सबसे व्यापक वॉयस और डेटा नेटवर्क बनाता है। धार्मिक महत्व के सभी चारधाम और श्री हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा जियो नेटवर्क से जुड़े हैं। इसी वर्ष चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले जियो ने सोनप्रयाग से केदारनाथ मंदिर तक के ट्रेक रूट पर भी 4G नेटवर्क उपलब्ध कराया था। यहां सेवा देने वाला जियो पहला और एकमात्र ऑपरेटर बन गया है। जियो उत्तराखंड के 20 शहरों में अपनी अनूठी वायर्ड ब्रॉडबैंड सेवाएं – जियोफाइबर भी दे रहा है। जियोफाइबर राज्य का सबसे बड़ा वायर्ड ब्रॉडबैंड सेवा प्रदाता है।

Advertisement
Advertisement

Related posts

पेड़ से लटके मिले प्रेमी युगल के शव, शरीर में चोट के निशान, पुलिस आनर किलिंग और सुसाइड में उलझी

pahaadconnection

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने जारी की परीक्षा की नई तिथि

pahaadconnection

सीएम ने किया छात्रों के दल को फ्लैग ऑफ कर रवाना

pahaadconnection

Leave a Comment