Pahaad Connection
Breaking News
Breaking Newsउत्तराखंड

जोशीमठ संकट को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने संबंधी याचिका पर सुनवाई से उच्चतम न्यायालय का इनकार

जोशीमठ
Advertisement

उच्चतम न्यायालय ने उत्तराखंड के जोशीमठ में भू-धंसाव संकट को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने के लिए अदालती हस्तक्षेप के अनुरोध वाली याचिका पर सुनवाई करने से सोमवार को इनकार कर दिया।

 

प्रधान न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति पी. एस. नरसिम्हा एवं जेबी पारदीवाला की पीठ ने याचिकाकर्ता स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती को अपनी याचिका के साथ उत्तराखंड उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाने को कहा। बद्रीनाथ और हेमकुंड साहिब जैसे प्रसिद्ध तीर्थस्थानों एवं अंतरराष्ट्रीय स्कीइंग केंद्र औली का प्रवेश द्वार जोशीमठ भू-धंसान के कारण एक बड़े संकट का सामना कर रहा है।

Advertisement

 

याचिकाकर्ता की दलील है कि बड़े पैमाने पर औद्योगिकीकरण के कारण भू-धंसाव हुआ है और इससे प्रभावित लोगों को तत्काल वित्तीय सहायता और मुआवजा दिया जाए। वहीं इस याचिका में कहा गया है, “मानव जीवन और उनके पारिस्थितिकी तंत्र की कीमत पर किसी विकास की आवश्यकता नहीं है और अगर ऐसी कुछ चीजें होती भी हैं, तो यह राज्य एवं केंद्र सरकार का कर्तव्य है कि इसे तुरंत रोका जाए।”

Advertisement
Advertisement

Related posts

शहरी विकास मंत्री ने की वित्त योजनाओं की समीक्षा

pahaadconnection

नये भारत के निर्माता हैं कर्मयोद्धा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी : तरविंदर सिंह मारवाह

pahaadconnection

पिथौरागढ़ पुलिस ने बरामद किये 11 गुमशुदा

pahaadconnection

Leave a Comment