Pahaad Connection
Breaking News
Breaking Newsस्वास्थ्य और फिटनेस

विटामिन डी की कमी होने पर क्या होता है? हड्डियों की सुरक्षा के लिए क्या करना चाहिए?

हड्डियों
Advertisement

कहा जाता है कि सुबह सूर्योदय से पहले उठना चाहिए। सेहत से जुड़ी कई समस्याओं से निजात दिलाने में फायदेमंद है। इसलिए सुबह जल्दी उठने से शरीर सक्रिय रहता है।

विटामिन डी शरीर के अच्छे स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। अगर शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाए तो इससे कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो जाती हैं। सभी जानते हैं कि विटामिन डी हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। ऐसा कहा जाता है कि सुबह की धूप के संपर्क में आने से कई स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं। ऐसा भी कहा जाता है कि सुबह सूर्योदय से पहले उठना चाहिए। सेहत से जुड़ी कई समस्याओं से निजात दिलाने में फायदेमंद है। इसलिए सुबह जल्दी उठने से शरीर सक्रिय रहता है।
विटामिन डी की कमी
विटामिन डी की कमी से शरीर में कई स्वास्थ्य समस्याएं हो जाती हैं। इसमें हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। इस पोषक तत्व की कमी ऑस्टियोपोरोसिस का कारण बनती है। इससे हड्डियों के अंदर बड़े-बड़े छेद हो जाते हैं।और हडि्डयों को कमजोर होने का कारण बनता है। सूर्य का संपर्क प्राकृतिक तरीका है और विटामिन डी की कमी को दूर करने का मुख्य तरीका है। साथ ही विटामिन डी से भरपूर कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन भी करना चाहिए।
सामन, अंडे की जर्दी, कॉड लिवर ऑयल, फोर्टिफाइड खाद्य पदार्थ आदि जैसे खाद्य पदार्थों में अच्छी मात्रा में विटामिन डी होता है। लेकिन इस भोजन का सेवन करने के बाद भी शरीर में विटामिन डी की कमी होने की संभावना अधिक रहती है।
विशेषज्ञों का कहना है कि इन पोषक तत्वों को अवशोषित करने के लिए शरीर को डेयरी उत्पादों का सेवन करने की जरूरत होती है। तो आइए देखें कि इस बारे में शोध और विशेषज्ञों का क्या कहना है।
खाने में तेल के साथ-साथ विटामिन डी भी जरूरी है
विटामिन डी वसा में घुलनशील विटामिन है। कई शोधों का अध्ययन करने के बाद क्या पाया गया? ऐसे पोषक तत्वों को शरीर में घुलने के लिए वसा या तेल की जरूरत होती है। यह दूध या उससे बनी क्रीम जैसे डेयरी उत्पादों से शरीर में जाता है।
कैल्शियम का सेवन करें
हड्डियों को क्षरण से बचाने के लिए कैल्शियम का सेवन बहुत जरूरी है। डेयरी उत्पादों और विटामिन डी आहार का संयोजन सबसे अच्छा कहा जाता है। क्‍योंकि दूध कैल्शियम प्रदान करने में भी मदद करता है। विटामिन डी मौजूद होने पर कैल्शियम शरीर द्वारा आसानी से अवशोषित हो जाता है।
कमजोर हड्डियों को कैसे रोकें?
एक रिपोर्ट में कहा गया है कि हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने और हड्डियों को मजबूत रखने के लिए प्रतिदिन 10 एमसीजी विटामिन डी की जरूरत होती है । इसकी कमी को रोकने के लिए शरीर को हर दिन विटामिन डी के समान स्तर की आवश्यकता होती है।
धूप एक प्राकृतिक उपचार है
हमारा शरीर पोषक तत्वों का उत्पादन करता है। इसे धूप की जरूरत है। इसलिए सुबह-शाम धूप लें। यह वसा में घुलनशील विटामिन खाद्य पदार्थों में कम मात्रा में ही पाया जाता है।
विटामिन डी की कमी के लक्षण
लक्षणों में हड्डियों में दर्द, थकान, अनिद्रा, बालों का झड़ना, भूख न लगना और आसानी से बीमार पड़ना शामिल हैं।
Advertisement

Related posts

पुलिस उपमहानिरीक्षक ने ली मासिक अपराध गोष्ठी

pahaadconnection

योगदा आश्रम पहुंचे सुपरस्टार रजनीकांत

pahaadconnection

श्रावण मास के प्रथम सोमवार पर हुआ देवाधिदेव महादेव का जलाभिषेक

pahaadconnection

Leave a Comment