Pahaad Connection
Breaking Newsउत्तराखंडखेल

उत्तराखंड की ‘मानसखंड’ झांकी को पहली बार मिला प्रथम स्थान

मानसखंड
Advertisement

गणतंत्र दिवस समारोह में उत्तराखंड राज्य की ओर से प्रस्तुत ‘मानसखंड’ झांकी को सर्वश्रेष्ठ झांकी होने का सम्मान मिला है। उत्तराखंड की झांकी को पहली बार प्रथम पुरस्कार मिला है। प्रथम पुरस्कार से सम्मानित राज्य की झांकी ‘मानसखंड’ में 18 कलाकारों ने हिस्सा लिया और झांकी का थीम गीत ‘जय हो कुमाऊं, जय हो गढ़वाल’ था। यह गीत कवि जनार्दन उप्रेती ने लिखा, जिसे सौरभ मैठाणी और साथियों ने सुर दिया था।

 

यहां राष्ट्रीय रंगशाला शिविर में केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने राज्य के सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग के महानिदेशक बंशीधर तिवारी को यह पुरस्कार प्रदान किया। इस मौके पर संयुक्त निदेशक एवं झांकी के नोडल अधिकारी के एस चौहान भी मौजूद थे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि मानसखंड झांकी से देश विदेश के लोग उत्तराखंड की लोक संस्कृति से भी परिचित हो सकेंगे।

Advertisement

 

उन्होंने झांकी को पुरस्कार के लिए चुने जाने पर प्रदेशवासियों, सूचना विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों, झांकी बनाने वाले कलाकारों तथा झांकी में सम्मलित कलाकारों को बधाई दी। गौरतलब है कि श्रीकेदारनाथ तथा श्रीबदरीनाथ धाम की तर्ज पर कुमाऊं के पौराणिक मंदिरों के लिए श्री धामी के निर्देश पर मानसखण्ड मंदिर माला मिशन योजना पर काम चल रहा है, जिसमें कुमाऊं में स्थित दो दर्जन से अधिक मंदिरों को विकसित किया जाना है।

Advertisement
Advertisement

Related posts

हिमालय मोंक फाउंडेषन द्वारा भोजगड कौसानी में प्रथम हेम्प मित्र किसान सम्मेलन आयोजित किया गया।

pahaadconnection

मानवाधिकार पर पुलिस अधीक्षक कार्यालय में किया वाद विवाद प्रतियोगिता का आयोजन

pahaadconnection

15 अक्टूबर को होगी कलश स्थापना : डॉक्टर आचार्य सुशांत राज

pahaadconnection

Leave a Comment