Pahaad Connection
Breaking Newsउत्तराखंड

विकास योजनाओं के धरातलीय क्रियान्वयन मे अदभुद क्षमता के धनी है धामी : चौहान

Advertisement

देहरादून, 4 नवंबर। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कहा कि राज्य के लिए यह सौभाग्य का विषय है कि देश के प्रधान मंत्री उतराखंड के मार्गदर्शक हैं और राज्य का नेतृत्व कुशल शिल्पी और मजबूत इरादों वाले रणनीतिकार मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के हाथ मे है, जिनकी अदभुद क्षमता के कारण विकास योजनाये धरातल पर उतर रही है। केदारखंड सर्किट से जुड़े सभी मंदिरों के जीर्णोद्वार एवं केदारखंड के सभी मंदिरों को चारधाम यात्रा से जोड़ने के धामी के विजन से 2025 तक राज्य मे विकास के कई नये आयाम गढ़ने जा रहा है जो कि प्रदेश की आर्थिकी के लिए ऐतिहासिक होगा। कर्णप्रयाग मे पत्रकारों से वार्ता करते हुए श्री चौहान ने कहा कि सही मायनों मे आज धामी विकास के भागीरथ बन चुके है और देश विदेश मे भी उत्तराखंड को गौरवान्वित कर रहे है। अपने पारदर्शी सुशासन और भ्रष्टाचार के खिलाफ तमाम ताबड़तोड़ कार्यवाही से यह साबित किया है कि प्रदेश हित मे वह हर कड़े फैसले ले सकते है और राज्य को आगे बढ़ाने के लिए यह जरूरी है। उन्होंने कहा कि केदारखंड विकास की दिशा मे एक स्वर्णिम काल है और योजनाओं के रूप मे सभी कल्पनाएँ आज साकार हो रही है। आज केंद्र के सहयोग से 2 लाख करोड़ से अधिक की योजनाएं धरातल पर चल रही है। राज्य मे डबल इंजन की सरकार है और केंद्र से अत्यंत निकटता का लाभ राज्य को मिल रहा है तो इसमे सीएम पुष्कर सिंह धामी का अहम योगदान है। हालांकि उससे भी अहम है कि योजनाएं उतरने के बाद उनका गहन निरीक्षण और गुणवत्ता के लिए पैनी नजर जरूरी होती है और सीएम इस पर फोकस करते रहे है। आज सीएम की अधिकांश घोषणाये पूरी हो चुकी है और वह उतनी ही घोषणाएं करते हैं जितनी अमल मे लायी जा सके।
पूर्व की कांग्रेसी सरकार भी डबल इंजन की रही है, लेकिन वह राज्य को कितना लाभ दिला पाए यह अंदाज इससे लग सकता है कि कांग्रेस नीत केंद्र सरकार ने उत्तराखंड का विशेष पैकेज छीन लिया और राज्य की कांग्रेस सरकार और सांसद मूक दर्शक बने रहे। आज उत्तराखंड की गिनती तेजी से विकास की ओर बढ़ते राज्य और धामी देश के लोकप्रिय मुख्यमंत्रियों मे सुमार हैं। धामी की समावेशी विकास की नीति का विपक्ष भी कायल रहा है और कई बार विपक्ष के बड़े नेता उनकी प्रसंशा भी कर चुके हैं। उत्तराखंड के पौराणिक और करोड़ो करोड़ो के आस्था के केंद्र रहे बद्रीनाथ, केदारनाथ, यमुनोत्री तथा गंगोत्री आज सुलभ और सुविधाजनक हो गए है। चारधाम आज विश्व पटल पर शुशोभित है और रोजगार की दिशा मे राज्य के युवाओं के लिए सुखद साबित हो रहा है। ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेल लाइन प्रदेश, गढवाल क्षेत्र और सीमांत क्षेत्रों की तस्वीर बदलने वाली है। इससे पलायन पर अंकुश लग सकेगा। कनेक्टिविटी बढ़ने से राज्य आर्थिक रूप से विकसित राज्यों मे शामिल हो रहा है। एक राज्य मे दो लाख करोड़ की योजनाएं केंद्र के सहयोग से धरातल पर चल रही है तो दूसरी और राज्य मे ढ़ाई लाख करोड़ के निवेश के लक्ष्य को लेकर सीएम देश और विदेश मे लगातार भ्रमण कर रहे है। मैदानी क्षेत्रों की भाँति पहाड़ों मे कैसे उद्योग लगे वह इस कल्पना को धरातल पर उतारने जुटे हुए हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तय लक्ष्य की वर्तमान दशक उत्तराखण्ड का दशक है। उत्तराखंड को सर्वश्रेष्ठ राज्यों की सूची में शुमार करने के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सवा करोड़ प्रदेशवासियों की आकांक्षाओं के अनुरूप कृत संकल्पबद्ध होकर प्रयास कर रहे हैं। और राज्य को वर्ष 2025 तक उत्तराखण्ड को उत्तम एवं आत्म निर्भर राज्य बनाने की दिशा में कदम बड़ाते हुए देश का अग्रणी राज्य बनाने का संकल्प लिया है।
मुख्यमंत्री धामी की लीडरशिप में हो रहे अथक प्रयाओं से अब तक हम लगभग 94000 करोड़ के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हो चुके हैं। अब तक साइन हुए इन एमओयू में हाल के बेंग्लेरू दौरे में 4600 करोड़, चेन्नई दौरे में 10,150 करोड़, यूएई में 15,475 करोड, ब्रिटेन में 12,500 करोड़ एवं दिल्ली में आयोजित दो अलग-अलग कार्यक्रमों में 26,575 करोड़ के एमओयू (4 सितंबर को 7600 करोड़ एवं 4 अक्टूबर को दिल्ली रोड शो के दौरान 18975 हजार करोड़ रूपये, गुजरात अहमदाबाद में 20700 करोड़ रुपये ) किये जा चुके हैं।
बेहद प्रसन्नता की बात है कि हम समिट के लिए तय लक्ष्य का 40 फीसदी निवेश एमओयू, लगभग सवा महीने पहले ही प्राप्त कर सके हैं। उत्तराखण्ड में रेल, सड़क एवं हवाई कनेक्टीविटी में गुणात्मक सुधार दिख रहा है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के निकट होने के कारण व्यापार और वाणिज्यिक हब और पड़ौसी राज्यों के साथ उत्कृष्ट कनेक्टीविटी का अतिरिक्त लाभ मिलना तय है। ऋषिकेश से कर्णप्रयाग तक रेलवे लाईन तथा हरिद्वार, ऋषिकेश, बद्रीनाथ और केदारनाथ को जोड़ने के लिये ऑल वेदर रोड का निर्माण राज्य के भीतर कनेक्टीविटी बढ़ाने की कोशिश निवेशकों के लिए बड़े आकर्षण का कारण बने हैं। प्रदेश में निवेश आने से रोज़गार सृजन के साथ राज्य के आर्थिक संशाधनों में भी बृद्घि होगी। राज्य में स्वास्थ्य, शिक्षा पर्यटन, तीर्थाटन सहित सभी क्षेत्रों में क्रांति की उम्मीद है। इस अवसर पर चमोली भाजपा के जिलाअध्य्क्ष रमेश मेखुरी, सांसद प्रतिनिधि राकेश डिमरी मंडल अध्यक्ष सुभाष चमोली, पूर्व मीडिया प्रभारी हेमंत सेमवाल, मनोरमा नैनवाल धीरेन्द्र भंडारी, आलम सिंह, रहीम सिद्धकी, अरबिंद गुसांई, कैलाश कुमार, गंभीर सिंह, कला राणा, चंडी प्रसाद बेलवाल आदि उपस्थित थे

Advertisement
Advertisement

Related posts

राज्यपाल ने दी ‘‘राष्ट्रीय प्रेस दिवस’’ पर बधाई

pahaadconnection

मेट्रो परियोजना प्रारम्भ कराये जाने की मांग

pahaadconnection

प्रधानमंत्री  ने किया बदरीनाथ-केदारनाथ के पुनर्निमाण कार्यों की  वर्चुअल समीक्षा 

pahaadconnection

Leave a Comment